"सरस पायस" पर सभी अतिथियों का हार्दिक स्वागत है!

सोमवार, अक्तूबर 04, 2010

उपहार सहित : डॉ. देशबंधु शाहजहाँपुरी के कहानी-संग्रह

----------------------------------------------------------------------------------------
हाल ही में डॉ. देशबंधु शाहजहाँपुरी ने अपने तीन नए
कहानी-संग्रह नन्हे दोस्तों को समर्पित किए हैं!
----------------------------------------------------------------------------------------
----------------------------------------------------------------------------------------
इन संग्रहों में विभिन्न विषयों पर लिखी गई
उनकी प्रेरक कहानियाँ संकलित हैं!
हर पृष्ठ टिकाऊ और रंगीन है!
----------------------------------------------------------------------------------------
----------------------------------------------------------------------------------------
अरविंद राज ने सुंदर चित्रों के साथ
इसके हर पृष्ठ को बहुत मेहनत से सजाया है!
----------------------------------------------------------------------------------------
----------------------------------------------------------------------------------------
आज डॉ. देशबंधु शाहजहाँपुरी का जन्म-दिन है!
हमारी तरफ से उनको हार्दिक शुभकामनाएँ और बधाई!
----------------------------------------------------------------------------------------
----------------------------------------------------------------------------------------
प्रत्येक पुस्तक का मूल्य है - रु.साठ मात्र,
पर "सरस पायस" के पाठक इन्हें आधे मूल्य में
निम्नांकित पते से मँगा सकते हैं!
----------------------------------------------------------------------------------------
शोभा प्रकाशन
आनंदपुरम् कॉलोनी, बीवीजई चौराहा
कनौजिया अस्पताल के पीछे, शाहजहाँपुर (उ.प्र.) - 242001
----------------------------------------------------------------------------------------
चलभाष : 9415035767 और 9936604767
----------------------------------------------------------------------------------------
ई-मेल : deshbandhu1@rediffmail.com
-----------------------------------------------------

11 टिप्‍पणियां:

sidheshwer ने कहा…

* डा० देशबंधु को किताओं की आमद पर मुबारकबाद!

sidheshwer ने कहा…

किताबों की आमद पर!

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

डॉ. देशबंधु शाहजहाँपुरी को
मेरी तरफ से जन्म-दिन की
हार्दिक शुभकामनाएँ और बधाई!

राज भाटिय़ा ने कहा…

आप का ब्लांग खुलने मै बहुत ही देर लगती है, ओर कई बार पीसी भी हेंग हो जाता है.

बहुत सुन्दर प्रस्तुति। धन्यवाद

डॉ. देशबंधु शाहजहाँपुरी ने कहा…

AAP SABHI KO MERI OR SE BAHUT BAHUT DHANYWAD...APNE MERI PUSTAKO KO PASAND KIYA...AUR MERE JANAM DIN KI BADHAI KE LIYE BHI SABHI KA ACHOR ABHAR...

शरद कोकास ने कहा…

बहुत अच्छा लगा पुस्तक और लेखक से यह परिचय

रानीविशाल ने कहा…

परिचय बहुत अच्छा रहा ......डॉ. देशबंधु शाहजहाँपुरी अंकल को जन्म-दिन की
हार्दिक शुभकामनाएँ और बधाई!
नन्ही ब्लॉगर
अनुष्का

Akshita (Pakhi) ने कहा…

डॉ. देशबंधु शाहजहाँपुरी अंकल जी को जन्म-दिन की
हार्दिक शुभकामनाएँ और बधाई!.अब तो यह किताबें भी पढेंगे.

चैतन्य शर्मा ने कहा…

देशबंधु अंकल को जन्म दिन की शुभकामनायें...... उनकी किताब ज़रूर पढेंगे.....

रवि अंकल आपको थैंक यू... अच्छी पोस्ट के लिए

डॉ. मोनिका शर्मा ने कहा…

जानकारी के लिए आभार ...... शुभकामनायें.....

Saba Akbar ने कहा…

डॉ. देशबंधु शाहजहाँपुरी जी को जन्म-दिन की
हार्दिक बधाई!

Related Posts with Thumbnails

"सरस पायस" पर प्रकाशित रचनाएँ ई-मेल द्वारा पढ़ने के लिए

नीचे बने आयत में अपना ई-मेल पता भरकर

Subscribe पर क्लिक् कीजिए

प्रेषक : FeedBurner

नियमावली : कोई भी भेज सकता है, "सरस पायस" पर प्रकाशनार्थ रचनाएँ!

"सरस पायस" के अनुरूप बनाने के लिए प्रकाशनार्थ स्वीकृत रचनाओं में आवश्यक संपादन किया जा सकता है। रचना का शीर्षक भी बदला जा सकता है। ये परिवर्तन समूह : "आओ, मन का गीत रचें" के माध्यम से भी किए जाते हैं!

प्रकाशित/प्रकाश्य रचना की सूचना अविलंब संबंधित ईमेल पते पर भेज दी जाती है।

मानक वर्तनी का ध्यान रखकर यूनिकोड लिपि (देवनागरी) में टंकित, पूर्णत: मौलिक, स्वसृजित, अप्रकाशित, अप्रसारित, संबंधित फ़ोटो/चित्रयुक्त व अन्यत्र विचाराधीन नहीं रचनाओं को प्रकाशन में प्राथमिकता दी जाती है।

रचनाकारों से अपेक्षा की जाती है कि वे "सरस पायस" पर प्रकाशनार्थ भेजी गई रचना को प्रकाशन से पूर्व या पश्चात अपने ब्लॉग पर प्रकाशित न करें और अन्यत्र कहीं भी प्रकाशित न करवाएँ! अन्यथा की स्थिति में रचना का प्रकाशन रोका जा सकता है और प्रकाशित रचना को हटाया जा सकता है!

पूर्व प्रकाशित रचनाएँ पसंद आने पर ही मँगाई जाती हैं!

"सरस पायस" बच्चों के लिए अंतरजाल पर प्रकाशित पूर्णत: अव्यावसायिक हिंदी साहित्यिक पत्रिका है। इस पर रचना प्रकाशन के लिए कोई धनराशि ली या दी नहीं जाती है।

अन्य किसी भी बात के लिए सीधे "सरस पायस" के संपादक से संपर्क किया जा सकता है।

आवृत्ति