"सरस पायस" पर सभी अतिथियों का हार्दिक स्वागत है!

शनिवार, अक्तूबर 16, 2010

आज बनी हैं नवदुर्गाएँ ब्लॉगजगत की नन्ही परियाँ : सरस चर्चा (17)

अनुष्का तो घंटे और शंख की ध्वनि के बीच
गणेश-मंत्र का जाप कर रही है! आप भी कीजिए -

वक्रतुंड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभ:।
निर्विघ्नं कुरुमे देव सर्व कार्येषु सर्वदा।।


विशेष तारीख़ १०.१०.१० को पंखुरी ने मनाया अपने पिताजी का जन्म-दिन!


ऐसा क्या किया उसने कि इशिता बड़ी हो गई!


लविज़ा के आसपास तो सँभलकर ही जाना!
गांधी जी की लाठी तन पर नहीं मन पर लगती है!

Laviza as Gandhi Ji

और यह देखिए! फूलों के साथ मुस्कराने के बाद
अक्षिता पाखी ने कौन-सा शतक मारा है?


पता नहीं आजकल क्या कर रही है,
चिन्मयी रिमझिम अपने शिल्पगृह में!


बाद में पता लगा : १५ अक्टूबर को एक ख़ास दिन था!
रिमझिम तो अपना और अपने दादाजी का जन्म-दिन मना रही थी!


ओजस्वी रुनझुन तो इस समय मेरी गोद में है!
आप समझ सकते हैं कि वह मुझसे क्या कह रही है!


चुलबुल अपनी बगिया में ढूँढ रही है एक सुंदर-सा फूल!


और अब मान्या से मिलते हैं,
जो अभी-अभी पूजा-अर्चना करके आ रही है!




















आइए हम सब भी इनकी पूजा-अर्चना करते हैं : प्यार से!

रावेंद्रकुमार रवि

11 टिप्‍पणियां:

रानीविशाल ने कहा…

वाह वाह नवदुर्गाओं की सुन्दर सुन्दर तस्वीरों से सजी बहुत सरस चर्चा ......अच्छे लिंक्स मिले
दुर्गाष्टमी और दशहरे की शुभकामनाएँ
नन्ही ब्लॉगर
अनुष्का

डॉ. मोनिका शर्मा ने कहा…

बड़ी प्यारी लग रहीं हैं सभी नव दुर्गाएं....इस भावपूर्ण प्रस्तुति के लिए आभार रवि जी.....सभी नन्हीं परियों को ढेर सारा प्यार ....दुर्गाष्टमी और दशहरे की शुभकामनाएँ

चैतन्य शर्मा ने कहा…

ये तो सभी बहुत क्यूट लग रहीं हैं.... रवि अंकल
सबको दुर्गाष्टमी और दशहरे की हार्दिक शुभकामनायें.......

Udan Tashtari ने कहा…

अरे वाह!!

दशहरा की हार्दिक बधाई एवं अनेक शुभकामना

Akshita (Pakhi) ने कहा…

कित्ती प्यारी और सरस-चर्चा...सभी को नवरात्र और दशहरा की बधाइयाँ !!

राज भाटिय़ा ने कहा…

वाह माता रानी की कंजके( देविया) तो यहां विराज मान हे जी, आज का दिन सफ़ल हो गया, सब बच्चियो को बहुत बहुत प्यार.आप ओर सब को
दशहरा की हार्दिक बधाई ओर शुभकामनाएँ!!!!

शुभम जैन ने कहा…

अरे वाह कितनी सुन्दर माँ के ९ कंजको की चर्चा....मानमोह लिया आज की चर्चा ने....

दशहरा व नवरात्री की बहुत शुभकामनाये....

गिरीश बिल्लोरे ने कहा…


विजयादशमी पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं

आपकी पोस्ट ब्लॉग4वार्ता पर

Chinmayee ने कहा…

विजया दशमी की हार्दिक शुभकामनायें !

__________________________
मेरा जन्मदिवस - २ (My Birthday II)

Saba Akbar ने कहा…

सभी बच्चियाँ कितनी प्यारी लग रही हैं :)

डॉ. नागेश पांडेय "संजय" ने कहा…

आपके प्रयास को जितना सराहूँ, कम होगा। कमाल कर दिया आपने।

Related Posts with Thumbnails

"सरस पायस" पर प्रकाशित रचनाएँ ई-मेल द्वारा पढ़ने के लिए

नीचे बने आयत में अपना ई-मेल पता भरकर

Subscribe पर क्लिक् कीजिए

प्रेषक : FeedBurner

नियमावली : कोई भी भेज सकता है, "सरस पायस" पर प्रकाशनार्थ रचनाएँ!

"सरस पायस" के अनुरूप बनाने के लिए प्रकाशनार्थ स्वीकृत रचनाओं में आवश्यक संपादन किया जा सकता है। रचना का शीर्षक भी बदला जा सकता है। ये परिवर्तन समूह : "आओ, मन का गीत रचें" के माध्यम से भी किए जाते हैं!

प्रकाशित/प्रकाश्य रचना की सूचना अविलंब संबंधित ईमेल पते पर भेज दी जाती है।

मानक वर्तनी का ध्यान रखकर यूनिकोड लिपि (देवनागरी) में टंकित, पूर्णत: मौलिक, स्वसृजित, अप्रकाशित, अप्रसारित, संबंधित फ़ोटो/चित्रयुक्त व अन्यत्र विचाराधीन नहीं रचनाओं को प्रकाशन में प्राथमिकता दी जाती है।

रचनाकारों से अपेक्षा की जाती है कि वे "सरस पायस" पर प्रकाशनार्थ भेजी गई रचना को प्रकाशन से पूर्व या पश्चात अपने ब्लॉग पर प्रकाशित न करें और अन्यत्र कहीं भी प्रकाशित न करवाएँ! अन्यथा की स्थिति में रचना का प्रकाशन रोका जा सकता है और प्रकाशित रचना को हटाया जा सकता है!

पूर्व प्रकाशित रचनाएँ पसंद आने पर ही मँगाई जाती हैं!

"सरस पायस" बच्चों के लिए अंतरजाल पर प्रकाशित पूर्णत: अव्यावसायिक हिंदी साहित्यिक पत्रिका है। इस पर रचना प्रकाशन के लिए कोई धनराशि ली या दी नहीं जाती है।

अन्य किसी भी बात के लिए सीधे "सरस पायस" के संपादक से संपर्क किया जा सकता है।

आवृत्ति