"सरस पायस" पर सभी अतिथियों का हार्दिक स्वागत है!

शुक्रवार, जून 25, 2010

चुलबुल द्वारा बनाए गए अनूठे चित्रों की झाँकी




आज "सरस पायस" आपको
एक और नन्ही प्रतिभा से मिलवा रहा है!
------------------------
जिसका नाम है : चुलबुल!

चुलबुल कितनी चुलबुली है!
यह तो उसका मुखड़ा देखते ही पता चल जाता है!
-----------------------------------------
वह कितनी प्रतिभाशाली है!
यह आप उसके द्वारा बनाए गए चित्रों को देखकर जान जाएँगे!
---------------------------------------
चुलबुल द्वारा बनाए गए चित्र ख़ुद ही बोलते हैं!
इन चित्रों के बारे में कुछ कहने की जरूरत नहीं पड़ती!

------------------



------------------


------------------


------------------


------------------


------------------



------------------

पर मन मान ही नहीं रहा!
---------------
- इसलिए कुछ कह देता हूँ -
-----------
चार साल की चुलबुल ने ये चित्र बनाए हैं!
सुंदर-सुंदर चित्र हमारे मन को भाए हैं!
--------
मेरी शुभकामना है कि "चुलबुल" ज्यों-ज्यों बड़ी हो,
त्यों-त्यों बड़ी-बड़ी उपलब्धियाँ प्राप्त करती रहे!
-----
रावेंद्रकुमार रवि



6 टिप्‍पणियां:

राज भाटिय़ा ने कहा…

अति सुंदर लगे सभी चित्र, चुलबुल को बहुत बहुत प्यार

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

मेरी शुभकामना है कि "चुलबुल" ज्यों-ज्यों बड़ी हो,
त्यों-त्यों बड़ी-बड़ी उपलब्धियाँ प्राप्त करती रहे!
--
शुभकामना में
मेरा भी स्वर मिला दें !

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

चुलबुल जैसे चुलबुले चित्र.....बहुत प्यारे हैं ..चुलबुल को शुभकामनायें

sidheshwer ने कहा…

अच्छी चुलबुल के चित्र बहुत अच्छे
ऐसे ही खुश रहे जग के सब बच्चे

माधव ने कहा…

bahut achchaa laga milkar

रावेंद्रकुमार रवि ने कहा…

माधव जी की टिप्पणी का लिप्यांतरण -

बहुत अच्छा लगा मिलकर!
bahut achchaa laga milkar

Related Posts with Thumbnails

"सरस पायस" पर प्रकाशित रचनाएँ ई-मेल द्वारा पढ़ने के लिए

नीचे बने आयत में अपना ई-मेल पता भरकर

Subscribe पर क्लिक् कीजिए

प्रेषक : FeedBurner

नियमावली : कोई भी भेज सकता है, "सरस पायस" पर प्रकाशनार्थ रचनाएँ!

"सरस पायस" के अनुरूप बनाने के लिए प्रकाशनार्थ स्वीकृत रचनाओं में आवश्यक संपादन किया जा सकता है। रचना का शीर्षक भी बदला जा सकता है। ये परिवर्तन समूह : "आओ, मन का गीत रचें" के माध्यम से भी किए जाते हैं!

प्रकाशित/प्रकाश्य रचना की सूचना अविलंब संबंधित ईमेल पते पर भेज दी जाती है।

मानक वर्तनी का ध्यान रखकर यूनिकोड लिपि (देवनागरी) में टंकित, पूर्णत: मौलिक, स्वसृजित, अप्रकाशित, अप्रसारित, संबंधित फ़ोटो/चित्रयुक्त व अन्यत्र विचाराधीन नहीं रचनाओं को प्रकाशन में प्राथमिकता दी जाती है।

रचनाकारों से अपेक्षा की जाती है कि वे "सरस पायस" पर प्रकाशनार्थ भेजी गई रचना को प्रकाशन से पूर्व या पश्चात अपने ब्लॉग पर प्रकाशित न करें और अन्यत्र कहीं भी प्रकाशित न करवाएँ! अन्यथा की स्थिति में रचना का प्रकाशन रोका जा सकता है और प्रकाशित रचना को हटाया जा सकता है!

पूर्व प्रकाशित रचनाएँ पसंद आने पर ही मँगाई जाती हैं!

"सरस पायस" बच्चों के लिए अंतरजाल पर प्रकाशित पूर्णत: अव्यावसायिक हिंदी साहित्यिक पत्रिका है। इस पर रचना प्रकाशन के लिए कोई धनराशि ली या दी नहीं जाती है।

अन्य किसी भी बात के लिए सीधे "सरस पायस" के संपादक से संपर्क किया जा सकता है।

आवृत्ति