"सरस पायस" पर सभी अतिथियों का हार्दिक स्वागत है!

शनिवार, जनवरी 01, 2011

लाया हूँ नया सवेरा : रावेंद्रकुमार रवि का नया बालगीत

लाया हूँ नया सवेरा


मैं नए साल का सूरज हूँ,
लाया हूँ नया सवेरा!

उजियारे में नई चमक भर,
तुमको राह दिखाऊँगा!
नई सफलताओं की ख़ुशियाँ,
तुम तक मैं पहुँचाऊँगा!
तुम चहक-चहककर गाओगे,
हर स्वप्न तुम्हारा सरसेगा!
मैं नए साल का ... ... .

रावेंद्रकुमार रवि

12 टिप्‍पणियां:

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" ने कहा…

नये वर्ष के स्वागत में आपने बहुत सुन्दर रचना प्रकाशित की है!
--
नववर्ष 2011 आपको और आपके पूरे परिवार को मंगलमय हो!
--
झट से यहाँ पोस्ट लाने के लिए फट से क्लिक कोड अपने ब्लॉग पर लगाएं! http://blogsmanch.blogspot.com/

डा.नागेश पांडेय 'संजय' ने कहा…

नए साल के सूरज पर क्या खूब लिखा आपने । बधाई मेरे भाई ।

मंजुला ने कहा…

सुन्दर कविता ..

नव वर्ष की आपको बहुत बहुत शुभकामनाये ......

माधव( Madhav) ने कहा…

नववर्ष 2011 आपको और आपके पूरे परिवार को मंगलमय हो!

हेमंत कुमार ♠ Hemant Kumar ने कहा…

बहुत सुन्दर बालगीत ----रावेन्द्र जी,नया साल आप के एवं परिवार के लिये ढेरों खुशियां लेकर आया……।इसका स्वागत करिये।

राज भाटिय़ा ने कहा…

नव वर्ष की आप सभी को शुभकामनाऎं

शुभम जैन ने कहा…

बहुत सुन्दर गीत...
नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाये...

वन्दना अवस्थी दुबे ने कहा…

नये वर्ष की असीम-अनन्त शुभकामनाएं.

एस.एम.मासूम ने कहा…

नव वर्ष 2011 की बधाई एवं हार्दिक शुभकामनाएं.

Akshita (Pakhi) ने कहा…

नए साल की पहली पोस्ट.प्यारी रचना....अच्छी लगी.
नव वर्ष पर आपको ढेर सारी बधाइयाँ.
_____________
'पाखी की दुनिया' में नए साल का पहला दिन.

डा.श्रीकांत मिश्र ने कहा…

नव वर्ष पर आपको और सरस पायस के पाठकों को मेरी बधाई .

रंजन ने कहा…

बहुत सुन्दर..

Related Posts with Thumbnails

"सरस पायस" पर प्रकाशित रचनाएँ ई-मेल द्वारा पढ़ने के लिए

नीचे बने आयत में अपना ई-मेल पता भरकर

Subscribe पर क्लिक् कीजिए

प्रेषक : FeedBurner

नियमावली : कोई भी भेज सकता है, "सरस पायस" पर प्रकाशनार्थ रचनाएँ!

"सरस पायस" के अनुरूप बनाने के लिए प्रकाशनार्थ स्वीकृत रचनाओं में आवश्यक संपादन किया जा सकता है। रचना का शीर्षक भी बदला जा सकता है। ये परिवर्तन समूह : "आओ, मन का गीत रचें" के माध्यम से भी किए जाते हैं!

प्रकाशित/प्रकाश्य रचना की सूचना अविलंब संबंधित ईमेल पते पर भेज दी जाती है।

मानक वर्तनी का ध्यान रखकर यूनिकोड लिपि (देवनागरी) में टंकित, पूर्णत: मौलिक, स्वसृजित, अप्रकाशित, अप्रसारित, संबंधित फ़ोटो/चित्रयुक्त व अन्यत्र विचाराधीन नहीं रचनाओं को प्रकाशन में प्राथमिकता दी जाती है।

रचनाकारों से अपेक्षा की जाती है कि वे "सरस पायस" पर प्रकाशनार्थ भेजी गई रचना को प्रकाशन से पूर्व या पश्चात अपने ब्लॉग पर प्रकाशित न करें और अन्यत्र कहीं भी प्रकाशित न करवाएँ! अन्यथा की स्थिति में रचना का प्रकाशन रोका जा सकता है और प्रकाशित रचना को हटाया जा सकता है!

पूर्व प्रकाशित रचनाएँ पसंद आने पर ही मँगाई जाती हैं!

"सरस पायस" बच्चों के लिए अंतरजाल पर प्रकाशित पूर्णत: अव्यावसायिक हिंदी साहित्यिक पत्रिका है। इस पर रचना प्रकाशन के लिए कोई धनराशि ली या दी नहीं जाती है।

अन्य किसी भी बात के लिए सीधे "सरस पायस" के संपादक से संपर्क किया जा सकता है।

आवृत्ति