"सरस पायस" पर सभी अतिथियों का हार्दिक स्वागत है!

मंगलवार, मई 31, 2011

वंशिका माथुर की मनभावन रंजनाएँ



यशवंत माथुर द्वारा सरस पायस के लिए
एक बढ़िया उपहार भेजा गया है!


इस उपहार की रचना की है वंशिका माथुर ने!


कक्षा-४ की छात्रा वंशिका लखनऊ में रहती है!


इसके पापा और यशवंत के चाचा कंचन माथुर भी एक आर्टिस्ट हैं!


अपने पापा की प्रेरणा से वंशिका
इस क्षेत्र में बहुत अच्छा स्थान प्राप्त करने की इच्छा रखती हैं!


मेरी और सरस पायस की तरफ से 
वंशिका के लिए अनुपम शुभकामनाएँ!

♥ संपादक : सरस पायस ♥


13 टिप्‍पणियां:

निवेदिता ने कहा…

प्यारी वंशिका को शुभकामनायें !

Kashvi Kaneri ने कहा…

वंशिका बहुत सुन्दर ड्राईग करती हो......

डॉ॰ मोनिका शर्मा ने कहा…

बहुत सुंदर......वंशिका को शुभकामनयें

रवि जी वंशिका की प्रतिभा को यहाँ साझा करने का आपका आभार ..

डॉ. नागेश पांडेय "संजय" ने कहा…

बहुत सुन्दर चित्र . बिटिया को आशीर्वाद , बधाई .

अभिनव सृजन
(http://abhinavsrijan.blogspot.com/) को देखिए नए रंग रूप में ... आपको आभार सहित


काका हाथरसी की कविता के साथ ठहाका लगाएं यहाँ ....
http://baal-mandir.blogspot.com/

NEHA MATHEWS ने कहा…

सभी चित्र बहुत सुन्दर हैं, वंशिका को उज्जवल भविष्य की शुभकामनाये|

रावेंद्रकुमार रवि ने कहा…

वंशिका की बादलवाली रंजना देखकर
मुझे अपनी एक कविता भी याद आ गई है!
--
इसे मैं वंशिका की इसी रंजना (पेंटिंग) के साथ
जल्दी ही "सरस पायस" पर प्रकाशित करूँगा!
--
संपादक : सरस पायस

Chinmayee ने कहा…

वंशिका दीदी के ड्राईग बहुत सुन्दर है ...

Vijai Mathur ने कहा…

वंशिका की ड्राइंग अपने ब्लाग पर लगाने हेतु आपको बहुत-बहुत धन्यवाद.

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

भेज दिया यशवन्त ने, यह सुन्दर उपहार।
सुन्दर चित्रों से यहाँ, मुखरित हुई बहार।।
--
पोस्ट बहुत अच्छी लग रही है!

यशवन्त माथुर (Yashwant Mathur) ने कहा…

आदरणीय सर!
अपने इस लोकप्रिय ब्लॉग के माध्यम से वंशिका को प्रोत्साहित करने के लिए आपका और सभी पाठकों का ह्रदय से आभारी हूँ.

सादर

सैयद | Syed ने कहा…

बहुत सुन्दर !

Maheshwari kaneri ने कहा…

बहुत सुन्दर चित्र है! ......वंशिका को बहुत बहुत शुभकामनायें !

rashmi ने कहा…

बहुत सुंदर......वंशिका को शुभकामनaयें.....

Related Posts with Thumbnails

"सरस पायस" पर प्रकाशित रचनाएँ ई-मेल द्वारा पढ़ने के लिए

नीचे बने आयत में अपना ई-मेल पता भरकर

Subscribe पर क्लिक् कीजिए

प्रेषक : FeedBurner

नियमावली : कोई भी भेज सकता है, "सरस पायस" पर प्रकाशनार्थ रचनाएँ!

"सरस पायस" के अनुरूप बनाने के लिए प्रकाशनार्थ स्वीकृत रचनाओं में आवश्यक संपादन किया जा सकता है। रचना का शीर्षक भी बदला जा सकता है। ये परिवर्तन समूह : "आओ, मन का गीत रचें" के माध्यम से भी किए जाते हैं!

प्रकाशित/प्रकाश्य रचना की सूचना अविलंब संबंधित ईमेल पते पर भेज दी जाती है।

मानक वर्तनी का ध्यान रखकर यूनिकोड लिपि (देवनागरी) में टंकित, पूर्णत: मौलिक, स्वसृजित, अप्रकाशित, अप्रसारित, संबंधित फ़ोटो/चित्रयुक्त व अन्यत्र विचाराधीन नहीं रचनाओं को प्रकाशन में प्राथमिकता दी जाती है।

रचनाकारों से अपेक्षा की जाती है कि वे "सरस पायस" पर प्रकाशनार्थ भेजी गई रचना को प्रकाशन से पूर्व या पश्चात अपने ब्लॉग पर प्रकाशित न करें और अन्यत्र कहीं भी प्रकाशित न करवाएँ! अन्यथा की स्थिति में रचना का प्रकाशन रोका जा सकता है और प्रकाशित रचना को हटाया जा सकता है!

पूर्व प्रकाशित रचनाएँ पसंद आने पर ही मँगाई जाती हैं!

"सरस पायस" बच्चों के लिए अंतरजाल पर प्रकाशित पूर्णत: अव्यावसायिक हिंदी साहित्यिक पत्रिका है। इस पर रचना प्रकाशन के लिए कोई धनराशि ली या दी नहीं जाती है।

अन्य किसी भी बात के लिए सीधे "सरस पायस" के संपादक से संपर्क किया जा सकता है।

आवृत्ति