"सरस पायस" पर सभी अतिथियों का हार्दिक स्वागत है!

शुक्रवार, नवंबर 12, 2010

राज्य-स्तर पर पहुँचे खटीमा के श्रेष्ठ बालवैज्ञानिक

राष्ट्रीय बालविज्ञान कांग्रेस, खटीमा २०१० के श्रेष्ठ बालवैज्ञानिक


उक्त पोस्ट में आपका परिचय जिला-स्तर पर पहुँचे खटीमा के
श्रेष्ठ बालवैज्ञानिकों से कराया गया था
और अट्ठारहवीं राष्ट्रीय बाल विज्ञान कांग्रेस : २०१० के
विषय आदि की जानकारी दी गई थी!

जूनियर वर्ग के तीनों बालवैज्ञानिकों
(ललिता, जागृति और सरोजनी)
ने राज्य-स्तरीय प्रतियोगिता में प्रतिभाग करने के लिए
जिला-स्तरीय प्रतियोगिता में भी सफलता प्राप्त कर ली है!

जिला-स्तरीय प्रतियोगिता राजकीय कन्या इंटर कॉलेज,
पंतनगर में ०९ नवंबर २०१० को संपन्न हुई!


ललिता और सरोजनी
राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, चारुबेटा
में अध्ययनरत कक्षा : नौ की छात्राएँ है!

ललिता के अनुभव शोध-प्रपत्र का विषय था -
चारुबेटा की भूमि व जन-जीवन पर कीटनाशकों का प्रभाव!

सरोजनी के अनुभव शोध-प्रपत्र का विषय था -
चारुबेटा की भूमि व जन-जीवन पर अगैती फसलों का प्रभाव!

राजकीय कन्या इंटर कॉलेज, खटीमा में ०२ नवंबर २०१० को संपन्न
ब्लॉक-स्तरीय विज्ञान महोत्सव में
विज्ञान प्रदर्शनी में यूक्लिड के अभिगृहीतों पर आधारित
सरोजनी के मॉडल को द्वितीय स्थान प्राप्त हुआ
और विज्ञान मेला में पत्तियों द्वारा कोणों का अध्ययन पर आधारित
ललिता के टीम प्रोजेक्ट को भी द्वितीय स्थान प्राप्त हुआ!

उक्त दोनों शोध-प्रपत्र, परियोजना (प्रोजेक्ट) व प्रतिदर्श (मॉडल)
मेरे मार्गदर्शन में तैयार किए गए हैं!

जागृति शिक्षा भारती इंटर कॉलेज, खटीमा में अध्ययनरत
कक्षा : आठ की छात्रा है!
उसने अपना अनुभव शोध-प्रपत्र
शिक्षक ललितमोहन भगवाल के मार्गदर्शन में तैयार किया,
जिसका विषय था - मृदा प्रदूषण एवं संरक्षण!

बाल विज्ञान कांग्रेस के अनुभव शोध-प्रपत्रों की राज्य-स्तरीय प्रतियोगिता
२६ व २७ नवंबर २०१० को कोटद्वार में संपन्न होगी!
-----------------------------------------------------------
सरस पायस और मेरी तरफ से इन सभी बालवैज्ञानिकों को पुन: बहुत-बहुत बधाई!
-----------------------------------------------------------
♣♣ रावेंद्रकुमार रवि ♣♣
-----------------------------------------------------------

6 टिप्‍पणियां:

अशोक बजाज ने कहा…

बेतरीन पोस्ट .

चैतन्य शर्मा ने कहा…

कितनी ख़ुशी की बात... इन सबको बधाई.....

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

खटीमा का नाम रौशन करने वाले इन बाल वैज्ञानिकों का अभिनन्दन!
--
इनके मार्गदर्शक गुरूजनों को बहुत-बहुत साधुवाद!

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

ललिता , जागृति और सरोजनी को बहुत बहुत बधाई और शुभकामनायें ..

रानीविशाल ने कहा…

ये तो बहुत अच्छी खबर है...... ललिता दीदी , जागृति दीदी और सरोजनी दीदी को बहुत बहुत बधाई
अनुष्का

Archana ने कहा…

बहुत बधाई!! और शुभकामनाएं...विजयी भव:...

Related Posts with Thumbnails

"सरस पायस" पर प्रकाशित रचनाएँ ई-मेल द्वारा पढ़ने के लिए

नीचे बने आयत में अपना ई-मेल पता भरकर

Subscribe पर क्लिक् कीजिए

प्रेषक : FeedBurner

नियमावली : कोई भी भेज सकता है, "सरस पायस" पर प्रकाशनार्थ रचनाएँ!

"सरस पायस" के अनुरूप बनाने के लिए प्रकाशनार्थ स्वीकृत रचनाओं में आवश्यक संपादन किया जा सकता है। रचना का शीर्षक भी बदला जा सकता है। ये परिवर्तन समूह : "आओ, मन का गीत रचें" के माध्यम से भी किए जाते हैं!

प्रकाशित/प्रकाश्य रचना की सूचना अविलंब संबंधित ईमेल पते पर भेज दी जाती है।

मानक वर्तनी का ध्यान रखकर यूनिकोड लिपि (देवनागरी) में टंकित, पूर्णत: मौलिक, स्वसृजित, अप्रकाशित, अप्रसारित, संबंधित फ़ोटो/चित्रयुक्त व अन्यत्र विचाराधीन नहीं रचनाओं को प्रकाशन में प्राथमिकता दी जाती है।

रचनाकारों से अपेक्षा की जाती है कि वे "सरस पायस" पर प्रकाशनार्थ भेजी गई रचना को प्रकाशन से पूर्व या पश्चात अपने ब्लॉग पर प्रकाशित न करें और अन्यत्र कहीं भी प्रकाशित न करवाएँ! अन्यथा की स्थिति में रचना का प्रकाशन रोका जा सकता है और प्रकाशित रचना को हटाया जा सकता है!

पूर्व प्रकाशित रचनाएँ पसंद आने पर ही मँगाई जाती हैं!

"सरस पायस" बच्चों के लिए अंतरजाल पर प्रकाशित पूर्णत: अव्यावसायिक हिंदी साहित्यिक पत्रिका है। इस पर रचना प्रकाशन के लिए कोई धनराशि ली या दी नहीं जाती है।

अन्य किसी भी बात के लिए सीधे "सरस पायस" के संपादक से संपर्क किया जा सकता है।

आवृत्ति