"सरस पायस" पर सभी अतिथियों का हार्दिक स्वागत है!

रविवार, नवंबर 14, 2010

याद आपकी आती है : नेहरू चाचा आओ ना : सरस चर्चा (20)

आज "बाल-दिवस" है!
आज आपको "सरस पायस" ऐसे दोस्तों से मिलवा रहा है,
जिनका मुखड़ा देखते ही सबकी ख़ुशी बढ़ जाती है!
--------------------------------------------------------
इन दोस्तों की तस्वीरों पर क्लिक् करके
आप इनसे संबंधित ब्लॉगों पर पर जा सकते हैं!
--------------------------------------------------------

- पहले एक कविता पढ़ लेते हैं -

नेहरू चाचा, आओ ना,
दुनिया को समझाओ ना।
बच्चे कितने प्यारे होते,
कोई उन्हें सताओ ना।

नेहरू चाचा, आओ ना,
मधु-मुस्कान दिखाओ ना।
तुम गुलाब की खुशबू से,
बचपन को महकाओ ना।


अपने पापा कृष्णकुमार यादव जी की इस कविता को
अक्षिता पाखी ने अपनी दुनिया में सजाया है!

♥♥ पाखी : अपनी नई-नवेली बहना के साथ ♥♥

♥♥ चैतन्य ♥♥

♥♥ अनुष्का ♥♥

♥♥ जादू ♥♥

♥♥ रिमझिम ♥♥

♥♥ स्पर्श ♥♥


♥♥ आज मान्या का भी जन्म-दिन है! ♥♥


♥♥ बुलबुल ♥♥

♥♥ इशिता (दाएँ) ♥♥

♥♥ पंखुरी (दाएँ) ♥♥

♥♥ माधव ♥♥

♥♥ चुलबुल ♥♥

♥♥ आदित्य ♥♥

♥♥ लविज़ा ♥♥
Laviza

♥♥ सरस पायस ♥♥

♥♥ जागृति ♥♥

♥♥ सरोजनी ♥♥ ललिता ♥♥

अंत में पढ़िए मेरा एक गीत!
यह गीत गत वर्ष आज ही के दिन "सरस पायस" पर प्रकाशित हुआ था! 



जन्म-दिवस हर वर्ष आपका
हँस-हँस खूब मनाते हम !
अपने आँगन में गुलाब की
सुंदर पौध लगाते हम !!
-----------------------------------------------------------------------
रावेंद्रकुमार रवि
-----------------------------------------------------------------------

14 टिप्‍पणियां:

आशीष मिश्रा ने कहा…

बहोत ही सुंदर लिंक दिये हैं आपने

Akshita (Pakhi) ने कहा…

अले वाह, आज तो बाल दिवस है. सभी को बधाई और हम बच्चों को मिले मिठाई...
बाल-दिवस पर पापा की कविता की चर्चा के लिए प्यार और आभार..और हाँ, मेरी छोटी बहन की प्यारी सी चर्चा के लिए आपको ढेर सारा प्यार.

रानीविशाल ने कहा…

बहुत सुन्दर चर्चा ....
आज बाल दिवस के दिन समस्त बाल मंडली को हार्दिक शुभकामनाएँ...!!
अनुष्का

Chinmayee ने कहा…

बाल दिवस की शुभकामनाएँ...!!
बहुत सुन्दर चर्चा ...

सैयद | Syed ने कहा…

सभी बच्चों को बाल दिवस की शुभकामनाएँ :)

Archana ने कहा…

सभी को और आपको विशेष रूप से(सबसे मिलवाने के लिए )बधाई..और आशिर्वाद...

VIJAY KUMAR VERMA ने कहा…

बहुत अच्छी पोस्ट ......


आज बाल दिवस के दिन समस्त बाल मंडली को हार्दिक शुभकामनाएँ...!!

निर्मला कपिला ने कहा…

सभी बच्चों को बाल दिवस की शुभकामनायें।

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

बहुत सुन्दर चर्चा है!
--
बाल दिवस की शुभकामनाएँ!

JHAROKHA ने कहा…

वाह रावेन्द्र जी,बालदिवस पर प्यारे चाचा नेहरु पर लिखी पंक्तियां---और साथ में इतने नन्हें मुन्ने बच्चों से परिचय----अच्छी लगी यह पोस्ट।

चैतन्य शर्मा ने कहा…

बहुत सुन्दर चर्चा हमारी टोली की ....थैंक यू ....

चैतन्य सहित दुनिया के सभी बच्चो का आपके लिए भी प्यार रवि अंकल :)

रंजन ने कहा…

बाल दिवस की शुभकामनाएं...

Akanksha~आकांक्षा ने कहा…

सुन्दर और सरस चर्चा..बधाई.

माधव( Madhav) ने कहा…

बहुत सुन्दर चर्चा

Related Posts with Thumbnails

"सरस पायस" पर प्रकाशित रचनाएँ ई-मेल द्वारा पढ़ने के लिए

नीचे बने आयत में अपना ई-मेल पता भरकर

Subscribe पर क्लिक् कीजिए

प्रेषक : FeedBurner

नियमावली : कोई भी भेज सकता है, "सरस पायस" पर प्रकाशनार्थ रचनाएँ!

"सरस पायस" के अनुरूप बनाने के लिए प्रकाशनार्थ स्वीकृत रचनाओं में आवश्यक संपादन किया जा सकता है। रचना का शीर्षक भी बदला जा सकता है। ये परिवर्तन समूह : "आओ, मन का गीत रचें" के माध्यम से भी किए जाते हैं!

प्रकाशित/प्रकाश्य रचना की सूचना अविलंब संबंधित ईमेल पते पर भेज दी जाती है।

मानक वर्तनी का ध्यान रखकर यूनिकोड लिपि (देवनागरी) में टंकित, पूर्णत: मौलिक, स्वसृजित, अप्रकाशित, अप्रसारित, संबंधित फ़ोटो/चित्रयुक्त व अन्यत्र विचाराधीन नहीं रचनाओं को प्रकाशन में प्राथमिकता दी जाती है।

रचनाकारों से अपेक्षा की जाती है कि वे "सरस पायस" पर प्रकाशनार्थ भेजी गई रचना को प्रकाशन से पूर्व या पश्चात अपने ब्लॉग पर प्रकाशित न करें और अन्यत्र कहीं भी प्रकाशित न करवाएँ! अन्यथा की स्थिति में रचना का प्रकाशन रोका जा सकता है और प्रकाशित रचना को हटाया जा सकता है!

पूर्व प्रकाशित रचनाएँ पसंद आने पर ही मँगाई जाती हैं!

"सरस पायस" बच्चों के लिए अंतरजाल पर प्रकाशित पूर्णत: अव्यावसायिक हिंदी साहित्यिक पत्रिका है। इस पर रचना प्रकाशन के लिए कोई धनराशि ली या दी नहीं जाती है।

अन्य किसी भी बात के लिए सीधे "सरस पायस" के संपादक से संपर्क किया जा सकता है।

आवृत्ति