"सरस पायस" पर सभी अतिथियों का हार्दिक स्वागत है!

सोमवार, जुलाई 05, 2010

सरस पायस को मिला कांस्य पदक : परियोजना पुरस्कृत

आज मैं उस "सरस पायस" से आपकी मुलाकात करवा रहा हूँ,
जिसके नाम पर इस ब्लॉग का नाम "सरस पायस" रखा गया है!
"सरस पायस" अब चौदह साल के हो चुके हैं!
ग्रेस मॉडर्न स्कूल, सीतापुर (उ.प्र.) से
कक्षा : आठ की परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद
अब वे सीतापुर (उ.प्र.) के ही
सेक्रेड हार्ट इंटर कॉलेज में कक्षा : नौ के छात्र हैं!

कक्षा : आठ में उनको मिली सफलताओं से आप सबको
अवगत कराने में मुझे अत्यधिक प्रसन्नता हो रही है!

"सरस पायस" द्वारा कृत परियोजना कार्य को
पहले तीन श्रेष्ठ कार्यों में सम्मिलित किया गया!

"सरस पायस" को कांस्य पदक से विभूषित करते हुए
उनकी अध्यापिका मंजु मैडम -


- "सरस पायस" ने एक मधुर मुस्कान के साथ यह पदक सबको दिखाया -


यह प्रोजेक्ट उन्होंने कंप्यूटर की सहायता से
"माइक्रोसॉफ्ट पावर प्वाइंट" पर तैयार किया था!
मामूली-सी कमियाँ रह जाने के कारण वे प्रथम स्थान नहीं प्राप्त कर पाए,
किंतु अपनी तरफ से उन्होंने इसे सजीवता प्रदान करने में कोई कसर नहीं छोड़ी!


--: "सरस पायस" द्वारा अँगरेज़ी में बनाए गए इस प्रोजेक्ट का शीर्षक है :--




इस शीर्षक पर चटका लगाने के बाद
"सरस पायस" द्वारा बनाए गए इस प्रोजेक्ट (परियोजना) को
"स्लाइड शो" करके देखा व पढ़ा जा सकता है!

18 टिप्‍पणियां:

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

सरस पायस को बहुत-बहुत बधाई!

संगीता स्वरुप ( गीत ) ने कहा…

सरस पायस को बहुत बहुत बधाई...और शुभकामनायें

निर्मला कपिला ने कहा…

सरस पायस को बहुत बहुत बधाई।

रंजन ने कहा…

बधाई...

गिरिजा कुलश्रेष्ठ ने कहा…

देहात में एक कहावत है---चूहे का बच्चा बिल तो खोदेगा ही ,।सरस ऐसा कुछ करेगा ,आगे भी बहुत कुछ करेगा यह विश्वास मुझे पहले से ही था ।आगे भी रहेगा ।फिलहाल सरस को बहुत-बहुत बधाइयाँ और ढेर सारा प्यार

शुभम जैन ने कहा…

सरस पायस को बहुत बहुत बधाई और आशीर्वाद...आगे और आगे बढ़ते जाओ|
प्यार,

rashmi ने कहा…

सरस पायस को इतने कम उम्र मे इतनी बरी उपलब्धि के लिए बधाई...

Akshita (Pakhi) ने कहा…

सरस भैया को ढेर सारी बधाइयाँ !!

रावेंद्रकुमार रवि ने कहा…

"सरस पायस" को बधाई
और आशीष देने के लिए आप सभी का आभार!

रावेंद्रकुमार रवि ने कहा…

मुझे अपने मेल-बॉक्स से बराबर सूचना मिल रही है
कि गिरिजा जी की टिप्पणी के बाद
इस पोस्ट पर और भी कई टिप्पणियाँ की गईं,
पर किसी तकनीकी ख़राबी के कारण
वे यहाँ दिखाई नहीं दे रही हैं!
मैं उन्हें अपने मेल-बॉक्स से लेकर
ज्यों का त्यों यहाँ प्रकाशित कर रहा हूँ!

रावेंद्रकुमार रवि ने कहा…

शुभम जैन ने आपकी पोस्ट " सरस पायस को मिला कांस्य पदक : परियोजना पुरस्कृत " पर एक टिप्पणी छोड़ी है:

सरस पायस को बहुत बहुत बधाई और आशीर्वाद...आगे और आगे बढ़ते जाओ|
प्यार,


शुभम जैन द्वारा सरस पायस के लिए ६ जुलाई २०१० ११:२२ AM को पोस्ट किया गया

रावेंद्रकुमार रवि ने कहा…

rashmi ने आपकी पोस्ट " सरस पायस को मिला कांस्य पदक : परियोजना पुरस्कृत " पर एक टिप्पणी छोड़ी है:

सरस पायस को इतने कम उम्र मे इतनी बरी उपलब्धि के लिए बधाई...

rashmi द्वारा सरस पायस के लिए ६ जुलाई २०१० २:०२ PM को पोस्ट किया गया

रावेंद्रकुमार रवि ने कहा…

Akshita (Pakhi) ने आपकी पोस्ट " सरस पायस को मिला कांस्य पदक : परियोजना पुरस्कृत " पर एक टिप्पणी छोड़ी है:

सरस भैया को ढेर सारी बधाइयाँ !!

Akshita (Pakhi) द्वारा सरस पायस के लिए ६ जुलाई २०१० ३:०६ PM को पोस्ट किया गया

रावेंद्रकुमार रवि ने कहा…

कुछ देर पहले की गई
निम्नांकित टिप्पणी भी ग़ायब हो गई है!
इस बारे में किसी को कुछ पता हो, तो कृपया बताएँ!

--
रावेंद्रकुमार रवि ने आपकी पोस्ट " सरस पायस को मिला कांस्य पदक : परियोजना पुरस्कृत " पर एक टिप्पणी छोड़ी है:

"सरस पायस" को बधाई
और आशीष देने के लिए आप सभी का आभार!


रावेंद्रकुमार रवि द्वारा सरस पायस के लिए ६ जुलाई २०१० ६:२० PM को पोस्ट किया गया

MAYUR ने कहा…

बहुत अच्छे चित्र हैं, हमें भी कभी ऐसे ही पुरस्कार मिला करते हैं

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

बधाई तो मैंने सबसे पहले दी थी!
--
मेरी टिप्पणी कहाँ गई??

रावेंद्रकुमार रवि ने कहा…

मयंक जी,
आपने तो अपने ब्लॉग पर
इस विषय पर पूरी पोस्ट लगा रखी है!
--
जब आप ही ऐसा प्रश्न करेंगे,
तो बाक़ी का क्या होगा?
--
आपके प्रश्न के उत्तर में मैं तो बस इतना ही कह सकता हूँ --
जहाँ आपके ब्लॉगों की टिप्पणियाँ घूमने चली गईं थीं,
वहीं गई होगी!
--
जैसे गिरिजा जी की लौट आई है,
वैसे ही आपकी भी लौट आएगी!

रावेंद्रकुमार रवि ने कहा…

देखा, मयंक जी!?
--
आपकी टिप्पणी घूम-घामकर वापस आ गई है!

Related Posts with Thumbnails

"सरस पायस" पर प्रकाशित रचनाएँ ई-मेल द्वारा पढ़ने के लिए

नीचे बने आयत में अपना ई-मेल पता भरकर

Subscribe पर क्लिक् कीजिए

प्रेषक : FeedBurner

नियमावली : कोई भी भेज सकता है, "सरस पायस" पर प्रकाशनार्थ रचनाएँ!

"सरस पायस" के अनुरूप बनाने के लिए प्रकाशनार्थ स्वीकृत रचनाओं में आवश्यक संपादन किया जा सकता है। रचना का शीर्षक भी बदला जा सकता है। ये परिवर्तन समूह : "आओ, मन का गीत रचें" के माध्यम से भी किए जाते हैं!

प्रकाशित/प्रकाश्य रचना की सूचना अविलंब संबंधित ईमेल पते पर भेज दी जाती है।

मानक वर्तनी का ध्यान रखकर यूनिकोड लिपि (देवनागरी) में टंकित, पूर्णत: मौलिक, स्वसृजित, अप्रकाशित, अप्रसारित, संबंधित फ़ोटो/चित्रयुक्त व अन्यत्र विचाराधीन नहीं रचनाओं को प्रकाशन में प्राथमिकता दी जाती है।

रचनाकारों से अपेक्षा की जाती है कि वे "सरस पायस" पर प्रकाशनार्थ भेजी गई रचना को प्रकाशन से पूर्व या पश्चात अपने ब्लॉग पर प्रकाशित न करें और अन्यत्र कहीं भी प्रकाशित न करवाएँ! अन्यथा की स्थिति में रचना का प्रकाशन रोका जा सकता है और प्रकाशित रचना को हटाया जा सकता है!

पूर्व प्रकाशित रचनाएँ पसंद आने पर ही मँगाई जाती हैं!

"सरस पायस" बच्चों के लिए अंतरजाल पर प्रकाशित पूर्णत: अव्यावसायिक हिंदी साहित्यिक पत्रिका है। इस पर रचना प्रकाशन के लिए कोई धनराशि ली या दी नहीं जाती है।

अन्य किसी भी बात के लिए सीधे "सरस पायस" के संपादक से संपर्क किया जा सकता है।

आवृत्ति